संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे

संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडेअंडा पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है, इसमें शरीर के लिए जरूरी सभी पौष्टिक तत्व पाये जाते हैं, यह एनर्जी बूस्टर होने के साथ-साथ वजन को भी संतुलित रखता है, इसलिए ब्रेकफास्ट में अंडों का सेवन कीजिए।

‘संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे’ वाली कहावत यूं ही नहीं प्रचलित है

वास्तव में अंडा अपने स्वास्थ्यवर्धक गुणों के कारण लोगों के बीच खासा लोकप्रिय है। ब्रेकफास्ट में अंडा खाना लोगों की पहली पसंद बनता जा रहा है। केवल अमेरिकन एग बोर्ड की मानें तो हर साल प्रत्येक व्यक्ति सामान्यतया 255 अंडों का सेवन करता है। लेकिन अंडों के बारे में कई बातें ऐसी हैं जिनसे शायद आप अभी तक अनजान हैं।

अंडे का आकार

अंडे का आकार एक जैसा नहीं है, बल्कि इसका आकार कई प्रकार का है। अंडे छोटे, मध्‍यम और बड़े तीनों प्रकार के आकार में आता है। यानी अगर आपकी भूख एक छोटा अंडा खाने की है तो आप छोटा अंडा खायें और अगर आप ज्‍यादा चाहते हैं तो बड़ा अंडा खायें। जितना बड़ा अंडा उतना अधिक फायदा और उतना ही अधिक प्रोटीन और मिनरल्स आपके शरीर को मिलेगा।

पौष्टिक तत्वों से भरपूर

हालांकि इसमें पाया जाने वाला कोलेस्ट्रॉल दिल के लिए नुकसानदेह है लेकिन 40 से अधिक हुए शोधों में यह बात साबित हो चुकी है कि अंडा एक स्वस्थ आहार है। इसमें विटामिन ए, डी, बी12 के साथ रिबाफ्लेविन, फास्फोरस, और फोलेट पाया जाता है। ये सारे पौष्टिक तत्व शरीर के लिए फायदेमंद हैं और इनके कारण दिमाग मजबूत होता है और आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।

वजन संतुलित रखता है

वजन का प्रबंधन करने में अंडा आपकी बहुत मदद कर सकता है। अंडा खाने के बाद आपकी भूख शांत हो जाती है और आप ओवरईटिंग से बच जाते हैं। एक अंडे में 70 कैलोरी और 6 ग्राम प्रोटीन होता है, यानी इसे लो कैलोरी फूड भी कहा जा सकता है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो अंडे का सेवन कीजिए।

प्रोटीन होता है

अंडे के सफेद भाग में अल्ब्यूमिन नाम का प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है, सुबह के वक्त शरीर को इस प्रोटीन की बहुत आवश्यकता होती है इसलिए अगर आप रोज नाश्ते में अंडे का सेवन करेंगे तो शरीर को भरपूर मात्रा में प्रोटीन मिलेगा। यह दिन भर आपको ऊर्जावान रखने में भी मदद करता है।

विटामिन डी

कैल्सियम के साथ-साथ विटामिन डी भी हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जरूरी होता है। हमारे शरीर को विटामिन डी सूर्य की किरणों के अवशोषण और कुछ आहार से मिलता है, इसमें अंडा भी आता है। अंडे में विटामिन डी भरपूर मात्रा में होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है।

रंग का असर नहीं पड़ता

कुछ लोगों का मानना है कि सफेद अंडे की तुलना में भूरा अंडा अधिक फायदेमंद होता है, जबकि यह वास्तविक नहीं है। अमेरिकन एग बोर्ड के अनुसार अंडे के रंग से उसकी पौष्टिकता पर कोई फर्क नहीं पड़ता, सफेद और भूरे अंडे समान होते हैं और दोनों में बराबर मात्रा में पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

फैट कम करता है

एक बड़े अंडे में 1.5 ग्राम सैचुरेटेड फैट, 1.8 ग्राम मोनोसैचुरेटेड फैट और एक ग्राम पॉलीअनसैचुरेटेड फैट मौजूद होता है। इसके अलावा एक बड़े अंडे में 185 मिग्रा कोलेस्ट्रॉल होता है। 2010 की डायटरी गाइडलाइन एडवाइजरी संस्था के अनुसार व्यक्ति को नियमित तौर पर 300 मिग्रा कोलेस्ट्रॉल की आवश्यकता होती है, इससे अधिक कोलेस्ट्रॉल के सेवन से दिल की बीमारियों के होने की संभावना होती है। लेकिन अगर आप रोज एक अंडा खायें तो आपकी कोलेस्ट्रॉल की जरूरत भी पूरी होगी और दिल भी बीमार नहीं होगा।

ताजा अंडे खायें

अंडों की भी एक्सपायरी डेट होती है, फार्म से बाहर आने के तीन सप्ताह के अंदर ही अंडो का प्रयोग फायदेमंद होता है। लेकिन यह भी ध्यान रहे कि इस बीच वह अच्छी तरीके से कोल्ड स्टोर में रखा गया है। अगर अंडे अधिक समय बाहरी तापमान में रखे जायें तो उनकी पौष्टिकता खत्म होने लगती है। इसलिए कोशिश कीजिए कि ताजे अंडे ही खायें।

एनर्जी बूस्टर है अंडा

अंडा बहुत ही अच्छा एनर्जी बूस्टर है। यदि आप रोज सुबह उठने में आलस का अनुभव करते हैं तो अंडे का सेवन आपके लिए फायदेमंद है। यह एक बेहतरीन एनर्जी बूस्टर है। रोज सुबह नाश्ते में इसे लेने से आपको पूरे दिन की ऊर्जा मिलेगी। इसके पीले भाग में हेल्दी फैट्स होते हैं जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं।

अंडे के बारे में जानिये रोचक तथ्य

अंडे तो हमारे आहार का जरूरी हिस्सा हैं, लेकिन इसके बारे में कई ऐसी बातें हैं जिनसे हम अनजान हैं। जानिये कुछ ऐसी ही बातें जो शायद आपने पहले कभी न सुनी हों।

अंडा बड़ा काम का

अंडे में कई पोषक तत्व होते हैं, इसमें प्रोटीन, विटामिन और अन्य मिनरल भी होते हैं। लेकिन, इसके अलावा अंडे के बारे में आप कितना जानते हैं। उबले अंडे का छिलका उतारने का तरीका या फिर सही अंडे की पहचान। इस तरह के कामों में आपको खासी मेहनत करनी पड़ती है।

छिलके उतरेंगे आसानी से

अंडे उबलाने के बाद उसके छिलके उतारने में काफी समय लगता है। अगर आप इस काम को आसान बनाना चाहते हैं तो अंडे को उबालने से पहले उसमें पिन से एक छेद कर दें। इसके छिलके आसानी से उतर जाएंगे।

क्या यह अंडा ताजा है

अंडे की ताजगी की पहचान के लिए उसे नमक मिले ठंडे पानी में रखें। अगर वह अंडा डूब जाता है तो मान लीजिये कि वह ताजा है और अगर वह तैरता रहता है, तो समझ जाइये कि वह अंडा पुराना हो चुका है।

ठंडे पानी में रखें

उबले अंडों को आसानी से सफाई के साथ छीलने के लिए उन्हें उबलने के बाद पाँच मिनट के लिए ठंडे पानी में डाल दें। थोड़ी देर बाद उन अंडों को छीलेंगे तो वे आसानी से छिल जाएंगे।

बाप रे बाप, इतने छिद्र

क्‍या आप इस बात का यकीन करेंगे कि अंडे के छिलके में 17 हजार छोटे-छोटे रोम छिद्र होते हैं। जी नंगी आंखों से इन रोम छिद्रों को देख पाना संभव नहीं हो पाता। तो नेकिन अगर आप आर्वधक लैंस की सहायता से देखेंगे तो आप इन छिद्रों को महसूस कर पाएंगे।

बच्चे, बूढ़े और जवान

अंडों में पाये जाने वाले पोषक तत्वों के कारण वे बुजुर्गों के लिए भी काफी सेहतमंद माने जाते हैं। बच्चे और युवा भी अंडे का सेवन कर सकते हैं। कुल मिलाकर कहा जाए तो अंडा पूरे परिवार के लिए उपयोगी और स्वास्थ्यवर्धक हो

दिल को रखे सेहतमंद

अंडों में ओमेगा थ्री फैटी एसिड होता है। इसे हैल्थी फैट कहा जाता है। यह तत्व हमारे दिल और रक्तवाहिनियों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। अंडे के पीले हिस्से में वसा बहुत अधिक होती हे, इसलिए कई डॉक्टर इसका सेवन न करने की सलाह देते हैं। हालांकि वैज्ञानिक मानते हैं कि अगर सीमित मात्रा में अंडे के पीले हिस्से का सेवन किया जाए तो यह दिल को नुकसान नहीं पहुंचाता।

सप्ताह में छह अंडे

शोध में यह बात प्रमाणित हुई है कि सप्ताह में छह अंडे अपने आहार में शामिल करना स्वस्थ आहार का हिस्सा माना जाता है। अंडे आपको काफी समय तक आपको पेट भरा होने का अहसास कराते हैं। इस लिहाज से यह वजन कम करने में भी सहायक होते हैं।

कैसे रहते हैं ताजा

अंडे सबसे ताजा तब रहते हैं तब आप उन्‍हें उनकी ट्रे में ही रखकर फ्रिज में रखते हैं। ऐसे रखने से अंडे खराब नहीं होते और उनका काफी समय तक इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

पोषक तत्वों का खजाना

अंडे में कुल 11 अलग-अलग विटामिन और मिनरल होते हैं। सभी खाद्य पदार्थों की अपेक्षा अंडों में प्रोटीन की मात्रा सबसे ज्‍यादा होती है।

एक्ने का इलाज

ऐसा माना जाता है कि अंडे के सेवन से एक्ने के इलाज में भी मदद मिलती है। अंडे भोजन में ग्लायकेमिक का स्तर कम कर देते हैं। इसलिए ये त्वचा के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं।

ये भी ज्ञानवर्धक लेख पढ़ें  मुर्गीपालन लाभकारी क्यों और कैसे?

 

Click Below & Share This Page.
Share
Posted in Home, Poultry Farming, पशुपालन और मुर्गीपालन and tagged , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *